Monday, 5 May, 2014

३० मई को रिलीज़ हो रही है फिल्म  
 बाबा रामसा पीर
३० मई को रिलीज़ हो रही है फिल्म “बाबा रामसा पीर’. राजस्थान के जाने माने संत ‘बाबा रामसा पीर’ की इस फिल्म का निर्माण किया है औशिम खेत्रपाल ने. जिन्होंने इस फिल्म से पहले  “शिरडी साईं बाबा”  नामक फिल्म बनाई थी. अभिनेता औशिम खेत्रपाल ऐतिहासिक फिल्म “बाबा रामसा पीर” में बाबा के चरित्र को अभिनीत कर रहे हैं. इस फिल्म से पहले इन्होने फिल्म ‘शिरडी साईं बाबा’ में भी अभिनय किया था.    
१४ शताब्दी में एक संत थे जिनका नाम रामसा था जिन्होंने सबसे पहले हिंदू-मुस्लिम एकता का संदेश फैलाया जिन्हें हिंदू बाबा और मुसलमान पीर कहते थे और दोनों ही इनकी पूजा करते थे. यह नाम बाबा को फारस के इनके ५ साथियों ने ही दिया था जो की उस समय भारत आये थे. इन्हीं “बाबा रामसा पीर” की कहानी पर आधारित है यह फिल्म, जिसका निर्माण हुआ है सतीश टंडन  प्रोडक्शन एंड ओरिएंट ट्रेडलिंक लिमिटेड के बैनर में.           
 इस फिल्म में अभिनय किया है साईं भक्त के रूप में विश्व में प्रसिद्ध औशिम खेत्रपाल और अभिनेत्री ग्रेसी सिंह ने. फिल्म की शूटिंग हुई है मुंबई, जोधपुर, जयपुर और रोंचा गाँव जहाँ पर बाबा रामसा की समाधि है. यह फिल्म राजस्थानी और हिंदी आदि दो भाषाओ में बनी है. इस फिल्म में हिंदी, राजस्थानी भाषा के साथ-साथ गुजराती भाषा में भी मधुर गीत संगीत है जो कि निश्चित रूप से श्रोताओ  को पंसद आएगा.

Saturday, 10 April, 2010

फ़िल्म ''चेज'' से आदित्य राज कपूर की वापसी

वरिष्ठ अभिनेता शम्मी कपूर के बेटे आदित्य राज कपूर मेवरिक प्रोडक्शन की फिल्म ''चेज'' जो जग मोहन मूंदड़ा द्वारा निर्देशित है, से अपने अभिनय की वापसी कर रहें हैं. यह फ़िल्म ''29 अप्रैल'' को रिलीज़ होने वाली है. इस फिल्म के अन्य कलाकार हैं अभिनेता अनुज सक्सेना, उदिता गोस्वामी, तरीना पटेल, समीर कोचर, राजेश खट्टर, संजय मिश्रा और श्वेता मेनन.

आदित्य राज कपूर इस फिल्म में नकरात्मक चरित्र वाले एक उद्योगपति की भूमिका में हैं. आदित्य शमाल, सांभर साल्सा जैसी फिल्मों का निर्देशन भी कर चुके हैं .पिछले पंद्रह वर्षों में आदित्य देश के दो सबसे लोकप्रिय वाले मनोरंजन पार्क अप्पू घर और फैंटेसी लैंड के निर्माण में व्यस्त थे.इसके अलावा उन्होंने बाल शिक्षा पर भी बहुत काम किया है. कई साल पहले उन्होंने सलमान खान व माधुरी दीक्षित अभिनीत फिल्म ''दिल तेरा आशिक'' व १९७८ में फ़िल्म ''सत्यम शिवम सुंदरम'' में भी अभिनय किया था.

Sunday, 4 April, 2010

मैंने गाँव के एक अंतर्मुखी शिक्षक की भूमिका निभायी है – राहुल बोस

राहुल बोस ऐसे अभिनेता हैं कि जब भी किसी फ़िल्म में अभिनय करते हैं वो फ़िल्म चर्चा का विषय बन जाती है उनकी ऐसी ही एक आने वाली फ़िल्म है ''जैपनीज वाइफ'', संगीत कंपनी सारेगामा द्वारा निर्मित इस फ़िल्म की निर्देशिका हैं अपर्णा सेन, लेखक कुनाल बसु के उपन्यास पर आधारित इस फ़िल्म में राहुल के साथ राईमा सेन व जापानी अभिनेत्री चिगुसा तकाकू मुख्य भूमिका में हैं. राहुल केवल एक अभिनेता ही नहीं बल्कि वो एक रग्बी खिलाड़ी, लेखक, सामाजिक कार्यकर्त्ता, निर्देशक व गायक भी हैं, पिछले दिनों बहुमुखी प्रतिभा के धनी अभिनेता राहुल से मुंबई के सिने मैक्स में बातचीत हुई, प्रस्तुत हैं कुछ मुख्य अंश -

• सबसे पहले अपनी इस फ़िल्म ''जैपनीज वाइफ'' के बारें में बताइए, क्या कहानी है?

यह कहानी है एक स्कूल शिक्षक की, जिसका नाम स्नेहमोय है और मियागे नामक जापान की एक लड़की है, ये दोनों ही पत्रों के माध्यम से एक दूसरे से मिलतें हैं और आपस में उनमें प्यार हो जाता है इसके अलावा पत्र के माध्यम से ही वो शादी भी कर लेते हैं उनकी शादी को १७ साल हो चुके हैं जबकि वो आज तक एक दूसरे से कभी नहीं मिले हैं. यह फ़िल्म उनके प्यार, उनकी खुशी, उनके दुख की है, उनके इस प्यार को एक कविता की तरह पेश किया है निर्देशिका अपर्णा सेन ने, जो बहुत ही अदभुत है.इस फ़िल्म में मेरे साथ जापानी अभिनेत्री चिगुसा तकाकू, राईमा सेन व मौसमी चटर्जी हैं. फ़िल्म का निर्माण किया है संगीत कंपनी सारेगामा ने, यह फ़िल्म लेखक कुनाल बसु के उपन्यास पर आधारित है.

• आपको इस फ़िल्म में ऐसा क्या विशेष लगा कि आपने इस फ़िल्म में काम करना पसंद किया?

मुझे इसकी कहानी ने बहुत ही प्रभावित किया, एक अनोखी प्रेम कहानी है इसमें, आज ऐसी प्रेम कहानी कहाँ देखने व सुनने को मिलती है. इसके अलावा अपर्णा सेन इसे निर्देशित कर रही थी तो जैसे सोने पे सुहागा वाली बात हो गयी.

• क्या आपको लगता है कि यह फ़िल्म भी निर्देशिका अपर्णा सेन की पिछली फ़िल्म की तरह दर्शको को प्रभावित कर सकेगी?

अपर्णा ने इस फ़िल्म में भी अपनी पिछली फिल्मों की तरह बहुत ही मेहनत की है, कहानी भी बहुत अच्छी है, और इसे फिल्माया भी बहुत ही प्रभावी तरीके से है मुझे लगता है कि दर्शको को बहुत पसंद आएगी यह फ़िल्म.

• क्या इस फ़िल्म के लिए आपको फिर से अवार्ड मिलेगा?

देखिये मैं कोई भी फ़िल्म केवल इसलिए नहीं करता कि मुझे अवार्ड मिलें, मैं उन्हीं फिल्मों में काम करना पसंद करता हूँ जिनसे की मुझे संतुष्टि मिलती है, सभी ने इस फ़िल्म में अच्छा काम किया है चाहे वो चिगुसा हो या राईमा हो मौसमी जी हो या मैं हूँ.

• आप अभिनेता, लेखक, व निर्देशक तो हैं ही, क्या किसी बंगाली फ़िल्म में आपने गाया भी हैं?

हाँ मैंने बंगाली फ़िल्म ''अनुरारन'' में एक गीत गाया था.

• अभी कौन - कौन सी फ़िल्में आपकी आने वाली हैं?

एक होरर फ़िल्म है नाम है ''फायरड'', इसके अलावा ''मुंबई चकाचक'' व ''आई एम एंड कुछ लव जैसा'' मेरी आने वाली फ़िल्में हैं.

Thursday, 25 March, 2010

दक्षिण अफ्रीका में हो रही “मिस इंडिया २०१०” प्रतियोगिता में अनुज सक्सेना मुख्य अतिथि

२७ मार्च २०१० डरबन, दक्षिण अफ्रीका में हो रही मिस इंडिया प्रतियोगिता में अभिनेता अनुज सक्सेना को मुख्य अतिथि के रूप में आमंत्रित किया गया है. ३० से अधिक देशों के प्रतियोगी इस समारोह में भाग ले रहें हैं और इस तरह की प्रतियोगिता हर वर्ष विभिन्न देशों में आयोजित होगी. अनुज सक्सेना कहते हैं, “मिस इंडिया वर्ल्डवाइड 2010” प्रतियोगिता में मुख्य अतिथि के रूप में दक्षिण अफ्रीका जाने में बहुत ही अच्छा लग रहा है. विभिन्न देशों की खूबसूरत प्रतियोगियो को एक ही मंच पर देख कर अच्छा लगेगा.'' अनुज पिछले पांच वर्षों से अंतरराष्ट्रीय एमी पुरस्कार के जूरर रहें हैं.

उन्हें कान में हुए ''MIPCOM Palais'' समारोह में भाग लेने के लिए आमंत्रित किया गया था. अनुज सक्सेना जगमोहन मूंदड़ा द्वारा निर्देशित फिल्म ''चेज'' में अभिनय कर रहें है जो कि 30 अप्रैल को रिलीज़ होने वाली है.

विदेशों में अनुज के बहुत प्रशंसक हैं क्योंकि सोनी टी वी उनका धारावाहिक ''कुसुम'' करीब पांच साल तक प्रसारित हुआ था.

Tuesday, 23 March, 2010

फ़िल्म "जैपनीज वाइफ" की प्रेस वार्ता का आयोजन मुंबई में


मुंबई के अँधेरी स्थित सिने मैक्स के रेड लाउंज में संगीत कंपनी सारेगामा द्वारा निर्मित फ़िल्म ''जैपनीज वाइफ'' की प्रेस वार्ता का आयोजन हुआ. इस प्रेस वार्ता में फ़िल्म की निर्देशिका अपर्णा सेन, अभिनेता राहुल बोस, अभिनेत्री मौसमी चटर्जी, सारेगामा के अपूर्व नागपाल व अजय शाह भी उपस्थित थे.
सबसे पहले फ़िल्म के प्रोमोज दिखाये गये. फिर अपर्णा सेन ने अपनी फ़िल्म ''जैपनीज वाइफ'' के बारें में बताया और इसके बाद फ़िल्म का संगीत रिलीज़ हुआ. बाद में अजय शाह द्वारा डिजाइन की गयी फ़िल्म ''जैपनीज वाइफ'' की नोट बुक व डायरी को भी रिलीज़ किया गया.
अभिनेता राहुल बोस ने बताया कि, ''मैं इस फ़िल्म में स्नेहमोय नामक स्कूल टीचर बना हूँ, जो कि बहुत ही शर्मीला व अंतर्मुखी है. बहुत ही मुश्किल होती थी शूटिंग करने में, क्योंकि हमने जिस गाँव में शूटिंग की उस गाँव में कोई सुविधा नहीं थी, कोई साइबर कैफे भी नहीं था. जापानी अभिमेत्री चिगुसा से भी बातचीत करने में मुश्किल आती थी क्योंकि हमें जापानी भाषा नहीं आती थी और उन्हें अंग्रेजी भी टूटी फूटी आती थी''
अभिनेत्री मौसमी चर्टजी ने बताया कि, ''मुझे बहुत ही ख़ुशी हुई इस फ़िल्म में काम करके, मैंने बहुत ही लम्बे समय बाद इस फ़िल्म में काम किया है और यह सब संभव हुआ है अपर्णा की वजह से, जिसने मुझे मनाया इसमें काम करने के लिए. उन्होंने कहा कि यह फ़िल्म सभी के दिलों को छूएगी क्योंकि इसकी कहानी बहुत ही संवेदनशील है''.
निर्देशिका अपर्णा ने बताया कि, ''यह फ़िल्म एक ऐसे प्यार की कहानी है जिसमें बगैर एक दूसरे को देखे व मिलें, केवल पत्रों व फोन के जरिये दो लोग प्यार करते हैं और शादी करते हैं और १७ साल तक उनका यह प्यार व शादी कायम कैसे रहती है, मुझे इस सबने ही फ़िल्म बनाने के लिए प्रेरित किया. बहुत ही चुनौती पूर्ण व रचनात्मकता रही इस फ़िल्म को बनाने में''
सारेगामा के अपूर्व नागपाल ने कहा कि,'' मुझे बहुत ही अच्छी लगी जब मैंने लेखक कुनाल बसु का यह उपन्यास पढा, और मुझे मौसमी का चरित्र भी बहुत ही पसंद आया.''
फ़िल्म ''जैपनीज वाइफ'' की कहानी इस प्रकार है, ''सुंदरवन में एक स्कूल शिक्षक है स्नेहमोय नाम का और मियागे जापान की एक युवा लड़की है, ये दोनों ही पत्रों के माध्यम से एक दूसरे से मिलतें हैं और आपस में उनमें प्यार हो जाता है इसके अलावा पत्र के माध्यम से ही वो शादी भी कर लेते हैं उनकी शादी को १७ साल हो चुके हैं जबकि वो आज तक एक दूसरे से कभी नहीं मिले नहीं.''

meraashiyana

Friday, 12 March, 2010

हर तरह की फिल्मों से खुश हूं : राइमा सेन

फ़िल्म ''गॉड मदर'' से अपने अभिनय सफ़र की शुरुआत की अभिनेत्री राईमा सेन ने, इस फ़िल्म में उनके अभिनय की सभी ने प्रशंसा की. इस फ़िल्म के बाद दमन, चोखेर बाली, परिणीता, दस, यात्रा, अंतर महल, दायरा, एकलव्य, फंटूश, मनोरमा सिक्स फीट अन्डर, सी कंपनी, मुखबिर, मेरे ख्वाबों में जो आये, हनीमून ट्रेवल्स और ''तीन पत्ती'' आदि अनेको फिल्मों इन्होंने अभिनय किया है. अब जल्दी ही उनकी एक नयी फ़िल्म ''जैपनीज वाइफ'' शीर्षक से रिलीज़ होने वाली है. सारेगामा के बैनर में निर्मित यह फ़िल्म अंग्रेजी व बंगाली दोनों भाषाओ में जल्दी ही रिलीज़ होने वाली है. निर्देशिका अपर्णा सेन की इस फ़िल्म में राहुल बोस, राईमा सेन, मौशमी चटर्जी व जापानी अभिनेत्री चिगुसा तकाकू भी हैं. राईमा से बातचीत हुई उनकी इसी आने वाली फ़िल्म को लेकर, प्रस्तुत हैं कुछ अंश --


· आपकी क्या भूमिका है?
मैं संध्या नाम की एक विधवा की भूमिका में हूँ. जिसका आठ साल का एक बेटा भी है. मैंने पहली ही बार इस तरह की भूमिका की है.

· कहानी के बारें में बताइए?
सुंदरवन में एक स्कूल शिक्षक है स्नेहमोय नाम का और मियागे जापान की एक जवान लड़की है, ये दोनों ही पत्रों के माध्यम से एक दूसरे से मिलतें हैं और आपस में उनमें प्यार हो जाता है इसके अलावा पत्र के माध्यम से ही वो शादी भी कर लेते हैं उनकी शादी को १५ साल हो चुके हैं जबकि वो आज तक एक दूसरे से कभी नहीं मिले हैं. मैं भी कुछ परिस्थितियों की वजह से शिक्षक के घर में रहती हूँ.

· सुना है, यह फ़िल्म भी किसी लेखक की कहानी पर आधारित है?
हाँ - यह अंग्रेजी लेखक कुनाल बासु की लघु कहानी पर आधारित है.

· अपर्णा सेन के साथ काम करना कैसा रहा? सुना है सेट पर आप बहुत ही डरी रहती थी निर्देशिका अपर्णा सेन से?
शुरू शुरू मैं थोड़ी सी उनसे डरी हुई थी क्योंकि मैंने सुना था की वो बहुत ही कडक हैं, लेकिन साथ में काम करते - करते सब ठीक हो गया. जब कोई सीन सही नहीं होता तब वो समझाती व जरुरत होने पर डांटती भी लेकिन फिर अपनी बेटी की तरह प्यार भी करती. अपर्णा के साथ काम करने में बहुत ही अच्छा रहा, मैं भविष्य में भी उनके साथ काम करना चाहूंगी, वो जिस तरह से काम करती हैं उससे बहुत ही प्रेरणा मिलती है.

· राहुल बोस के साथ काम करना कैसा रहा?
राहुल तो एक मंझे हुए अभिनेता है, उनके साथ काम करते हुए बहुत ही सीखा मैंने अभिनय के बारें में, बहुत ही मजा आया साथ में काम करके.

· आपकी अधिकतर जितनी भी फ़िल्में आयी हैं उनमे से अधिकतर कमर्शियल नहीं हैं ? क्या कोई वजह है इसकी?
मुझे जिस भी तरह की फ़िल्में मिल रही हैं मैं उनसे खुश हूँ, मुझे कोई भी शिकायत नहीं है.

· इस फ़िल्म के बाद कौन सी फ़िल्में आपकी आने वाली हैं?
एक तो '' सन् ग्लास'' है, इसके अलावा विनय शुक्ला की ''मिर्च'' व रितुपर्णो घोष की '' नौका डूबी'' मेरी आने वाली फ़िल्में हैं.